रिपोर्टर मोहल्ले के

सबने सुना होगा “ख़बरों में आग होती है” आग जो लोगों को बातें करने पर मजबूर कर देती है जैसे अख़बारों और न्यूज चैनलों पर होती है जो ख़बर रिपोर्टर जाने कहाँ कहाँ से ढूंढ कर लाते है वैसी ही ख़बर आग लगा देने वाली गली मोहलों में भी होती है यहाँ भी ख़बर सुनाई जाती है ख़बरों से आग लगाई जाती है घर -घर पंहुचाई जाती है और यहाँ रिपोर्टर की भूमिका में यह काम मोहल्ले के सबसे खोजी प्रवृत्ति वाले अंकल या आन्टी करते हैं ये और बात है कि वो खुद को न खोजी प्रवृत्ति का मानते हैं न खाली मानते हैं उनके हिसाब से वो बहुत व्यस्त इंसान है ।

मोहल्ले में रिपोर्टर की भूमिका में अगर अकंल हैं तो कुछ गनीमत है केवल सुबह -सुबह दूध का डब्बा लिए आते जाते ही अपनी ललचाई नज़रों से ख़बर ढ़ूढते हैं और अपनी तीखी जबान से एक-दो व्यंग्य बोल ख़बरों से आग लगते हैं या फिर शाम को अपने दरबे से बाहर निकलते हैं मोहल्ले के नुक्कड़ पर दिल को बहलाने के लिए चुगली कर लेते हैं और एक एक कप नुक्कड़ वाली चाय पी रेगिस्तान में राहत सी ले घर चले जाते हैं । लेकिन मोहल्ले की आन्टी अगर रिपोर्टर का फर्ज़ निभाने लगें तो बस जान लिजिए खैर नहीं किसी के घर की बात जो माइक्रो फोन भी न सुना पाये ऐसी बातें भी सात दरवाजों से निकाल लेती हैं।

मोहल्ले का कोई मुद्दा दफ़न ही नहीं हो सकता वो मुद्दा काफी दिनों तक धधकता रहता है उनके सीने में जिससे वो इस घर उस घर ख़बरों के रूप में पहुंचा सुकून ढूढती रहती हैं कमाल की बात यह भी है की किसी भी समय यह कहीं भी पहुंच जाती हैं बहाने तो पूछिये मत पचासों बहाने होते हैं इसके पास चीनी माँगने से लेकर ,चुन्नी की कीनारी कहाँ से ली , ऐसे ऐसे बहाने़ बनाती हैं की लोग दंग रह जाते हैं सुबह के छः बजे से रात के नौ बजे तक ये सक्रिय रहती हैं रिपोर्टर आन्टी किसी के भी घर में बहाने बना ख़बर निकालने घुस जाती हैं गेट पर पापा पहरा दे रहे हो या कुत्ता बांध रखा हो आपने कोई इन्हें नहीं रोक सकता मोहल्ले की औरतों को लड़ाने भर का बारूद ये हर हफ्ते तैयार कर ही लेती हैं रिपोर्टर आन्टी ,रिपोर्टर आन्टी की खास नजर होती है मोहल्ले के लड़के-लड़कियों पर खास कर लड़कियों पर आते जाते किसी लड़की ने किसी लड़के से बात कर ली तो बस रिपोर्टर आन्टी हरकत में आ जाती हैं इनके हिसाब से मात्र बात करने से अफेयर शुरू हो जाता है र्मिच -मसाले के साथ हर घर में यह डिश परोस आती हैं

रिपोर्टर आन्टी मोहल्ले के किस घर में सास ने बहू को क्या ताना मारा बहू ने सास से कब ,कहाँ जबान लड़ाई सब पता होता है फिर यह बात मोहल्ले के हर घर में आँखों देखा हाल की तरह सुना कर माहौल गर्म करने से पिछे नहीं हटतीं इनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ पाता न कुछ कह पाता है ये निडर होकर अपना कार्य करती हैं इतनी तत्परता इतनी निष्ठा अपने शौक के प्रति की न्यूज चैनल वाले शर्मिंदा हो जाए जो एक ही ख़बर दिन भर चलाते हैं वो अख़बार जो खबरों वाले पेज पर ऐड छाप अखबारों की धज्जियाँ उड़ा देते हैं उन्हें मोहल्ले की रिपोर्टर आन्टी से कुछ सीखना चाहिए बिना एक पैसा लिए कैसे ईमानदारी से ख़बरों का आदान-प्रदान करती हैं ।सत्-सत् नमन् है मोहल्ले के इन रिपोर्टरों को …..।

………………………………………………..

…………………………..

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Create your website with WordPress.com
Get started
%d bloggers like this: